राजनीति

बाढ़ से इंडस्ट्रियल एरिया में अरबों रुपए का नुकसान, मुआवजा दे सरकार:-ओंकार सिंह

बाढ़ से इंडस्ट्रियल एरिया में अरबों रुपए का नुकसान, मुआवजा दे सरकार:-ओंकार सिंह

टांगरी के लिए जमीन एक्वायर करके पक्की नदी व पक्का बंध बनाए सरकार।

कभी नगरनिगम से नगरपरिषद तो कभी वार्डबंदी के बहाने निकाय चुनाव में देरी:-ओंकार सिंह

सरकार का आपदा प्रबंधन विभाग में मौसम विभाग कहां है।

जनता को पानी आने की सूचना अगर पहले दे दी जाती तो जनता का नुकसान ना होता।

  1. बाढ़ का पानी आने से इंडस्ट्रियल एरिया, रामपुर, सरसेड़ी, चंदपुरा, करधान, खोजकीपुर, नग्गल, प्रभु प्रेम पुरम, सोनिया कॉलोनी व अन्य कॉलोनियों और बंध के अंदर रहने वाले लोगों के नुकसान की भरपाई की मांग सरकार से करते हैं हुए इनेलो प्रदेश प्रवक्ता ओकार सिंह ने कहा कि बाढ़ से इंडस्ट्रियल एरिया में अरबों रुपए का नुकसान हुआ है और टांगरी बांध के अंदर रहने वाले व रामपुर, सरसेड़ी, चंद्रपुरा गांव के निवासी, करधान, खोजकीपुर, नग्गल, प्रभु प्रेम पुरम, सोनिया कॉलोनी व अन्य कॉलोनियों के लोग लगभग बर्बाद हो गये है। सरकार इस सभी के नुक्सान का आंकलन करवाकर उन्हे मुआवजा दे। उन्होंने कहाकि टांगरी के अंदर की जमीन जमीदारों की है ना कि सरकार की। सरकार टांगरी के लिए जमीन एक्वायर करे, टांगरी नदी को गहरा करके पानी का निकलने का स्थान बनवाएं और नदी के तटबंध व बंध को पक्का करवाए। उन्होंने कहा कि माना आपदा वर्षों में एक बार आती है लेकिनआपका जब भी आती है बर्बादी लेकर आती है। प्रकार विकास के नाम की बातें तो बहुत करती है और हर वर्ष हजारों करोड रुपए का बजट आपदा प्रबंधन के लिए खर्च किया जाता है लेकिन धरातल पर कार्य कुछ नहीं होता। इससे पहले कि अब दोबारा कभी भी पानी आए सरकार को टांगरी नदी, उसके तटबंध व एक अलग बंध का निर्माण कर देना चाहिए ताकि जनता को भविष्य मे नुकसान ना हो सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×