राजनीति

जन जन की पुकार नगरपरिषद के चुनाव जल्द करवाए सरकार:-ओंकार सिंह

  • जन जन की पुकार नगरपरिषद के चुनाव जल्द करवाए सरकार:-ओंकार सिंह

 

आपदा के समय जनता को प्रतिनिधि से से उम्मीद होती है।

पार्षदों के बिना वार्डों में विकास के कार्य नहीं हो रहे।

अम्बाला छावनी नगरपरिषद के चुनाव के लिए बार बार वार्डबंदी करने और चुनाव न करवाने को लेकर विचार विमर्श करने के लिए नगरपरिषद के पूर्व उपप्रधान मेहर सिंह की अध्यक्षता मे मीटिंग सम्पन्न हुई। मीटिंग मे उन्होंने कहाकि लोकतांत्रिक प्रक्रिया में चुनाव सबसे महत्वपूर्ण होते हैं इसलिए सरकार 5 वर्ष से लटके हुए नगर परिषद के चुनाव कराए ताकि जनता को जनप्रतिनिधि मिल सके। पूर्व पार्षद नवीन यादव ने कहाकि वार्ड पार्षद के बिना वार्ड के कार्य संपन्न ही नहीं हो सकते क्योंकि वार्ड पार्षद को ही मालूम होता है कि वार्ड में क्या-क्या विकास कार्य करवाने है इसलिए सरकार को तुरंत नगर परिषद के चुनाव करवाने चाहिए। इस अवसर पर ओंकार सिंह ने कहाकि सरकार कई वार्ड बंदी करवा चुकी है और हर बार वार्ड बंदी में कोई ना कोई कमी छोड़ दी जाती है जिसके कारण विपक्ष को उंगली उठाने का मौका मिल जाता है। आज जनता अपने जनप्रतिनिधि ना होने के कारण हताश व परेशान है। बाढ़ की आपदा के दौरान यदि जनता के जनप्रतिनिधि होते, प्रत्येक वार्ड में पार्षद होते तो वह अपने वार्ड की जनता की सहायता जरूर करते हैं। वर्ष 2013 में नगर निगम में पार्षद के चुनाव हुए थे, तब से अब तक लगभग 10 वर्ष हो चुके हैं, नगर निकाय के चुनाव नहीं हुए। सरकार हर बार किसी ना किसी चुनाव से चुनाव टाल रही है। पहले नगर निगम से नगर परिषद बनाया गया, फिर 31 वार्ड बनाए गए और उनकी वार्ड बंदी की गई और अब 32 वार्ड बनाए गए और 32 वार्ड की वार्ड बंदी की गई। अब भी वार्ड बंदी में भी कई कमियां है, वार्ड बंदी के लिए बनाई गई कमेटी ने सभी दलों के प्रतिनिधि शामिल नहीं किए गए लेकिन फिर भी जनहित में सरकार को जल्द से जल्द नगर परिषद के चुनाव कराने चाहिए। संवैधानिक प्रावधानों के अनुसार प्रत्येक 5 वर्ष में चुनाव जरूरी है लेकिन नगर निगम से नगर परिषद बनने के कारण नए सिरे से वार्डबंदी भी जरूरी थी। अब वार्ड बंदी हो चुकी है सरकार को जनता की भावनाओं के अनुसार और लोकतांत्रिक परंपराओं का अनुसरण करते हुए नियम अनुसार जल्द नगर परिषद के चुनाव कराने चाहिए ताकि जनता को उसके प्रतिनिधि मिल सके और वह अपनी मर्जी के कार्य करवाा सकें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×