Uncategorized

कभी नगरनिगम से नगरपरिषद तो कभी वार्डबंदी के बहाने निकाय चुनाव में देरी:-ओंकार सिंह

कभी नगरनिगम से नगरपरिषद तो कभी वार्डबंदी के बहाने निकाय चुनाव में देरी:-ओंकार सिंह

कभी नगरनिगम से नगरपरिषद तो कभी वार्डबंदी के बहाने निकाय चुनाव में देरी:-ओंकार सिंह

 

वार्डबंदी के लिए बनी एडहाक कमेटी मे इनेलो का प्रतिनिधि शामिल किया जाए।

अम्बाला छावनी नगरपरिषद की वार्डबंदी के लिए बनी एडहाक कमेटी मे इनेलो का प्रतिनिधि न शामिल किए जाने की निंदा करते हुए ओर सरकार पर कभी नगरनिगम से नगरपरिषद बनाने के नाम पर तो कभी वार्डबंदी के बहाने निकाय चुनाव में देरी करने का आरोप लगते हुए इनेलो प्रदेश प्रवक्ता ओंकार सिंह ने कहाकि यह लोकतान्त्रिक प्रक्रिया के खिलाफ है। इंडियन नेशनल लोकदल का प्रतिनिधि एडहाक कमेटी मे लिया जाना चाहिए ताकि लोकतान्त्रिक मर्यादाओ के अनुसार वार्डबंदी की जा सके। प्रशासन से एडहाक कमेटी मे इनेलो का प्रतिनिधि शामिल करने की मांग करते हुए उन्होंने कहाकि पूर्व पार्षद व नगरपालिका अम्बाला छावनी के पूर्व उपप्रधान मेहर सिंह जाट इनेलो के वरिष्ठ पूर्व पार्षद है जिन्हे वार्डबंदी की प्रक्रिया का अच्छा ज्ञान भी है इसलिए उन्हे एडहाक कमेटी me शामिल किया जाए। उन्होबे कहाकि आज नगरपरिषद/नगरनिगम के चुनाव हुए 10 वर्ष होने को है। वार्डो में बिना जनप्रतिनिधि के जनता की मांग व इच्छा के अनुरूप विकास कार्य नही हो सकते। अम्बाला छावनी मे कभी नगरनिगम से नगरपरिषद बनाने के नामपर तो कभी वार्डबंदी के नाम पर पार्षद के चुनावो को बार बार टालने का काम किया जा रहा है जोकि असविधानिक व अलोकतान्त्रिक है। उन्होंने सरकार से मांग की कि सविधानिक प्रक्रिया को ध्यान में रखते हुए नियमानुसार वार्डबंदी करके नगरपरिषद चुनाव जल्द करवाए जाएं ताकि जनता अपने वार्ड का प्रतिनिधि चुनकर विकास कार्य करवा सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×